ब्रिटेन में भारतीय सबसे कुशल कामगार, रिपोर्ट में कहा गया

 

लंदन।कहते हैं भारतीय कहीं भी रहे वे अपने हुनर के दम पर लोगों के बीच में जगह जरुर बन लेते है। इसी कड़ी में ब्रिटेन में भारतीय मूल की आबादी देश के दूसरे जातीय अल्पसंख्यक वर्गों की तुलना में सबसे ज्यादा कुशल है। जारी किए गए रेस डिस्पैरिटी ऑडिट’ में यह कहा गया। प्रधानमंत्री टेरिजा में ब्रिटेन की लोकसेवा में नस्ली भेदभाव से निपटने के लिए इस ऑडिट को मंजूरी दी थी। इसमें यह भी पाया गया कि भारतीय पृष्ठभूमि के छात्रों के प्रदर्शन की दर दूसरे समुदायों के छात्रों की तुलना में बेहतर थी। ऑडिट के अनुसार,कामकाज में भारतीय लोगों के उच्चतम कौशल युक्त व्यवसायिक समूहों में काम करने की सबसे ज्यादा संभावना है,उनमें 10 में से एक प्रबंधक हैं, निर्देशक एवं वरिष्ठ अधिकारी की भूमिका में हैं और 10 में से तीन से ज्यादा लोग पेशेवर व्यवसायों में हैं। इसमें यह भी पाया गया कि साल 2016 में किए गए एक सर्वेक्षण के तहत भारतीय पृष्ठभूमि के वयस्कों में जीवन संतुष्टि के लिए 10 में से सबसे ज्यादा औसत रेटिंग पायी गई और उन्हें ना केवल रोजगार मिलने की सबसे ज्यादा संभावना थी बल्कि उन्हें रोजगार के तहत प्रति घंटे सर्वाधिक वेतन भी मिल रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *